मकर संक्रांति के स्नान को लेकर पुलिस-प्रशासन की पूरी तैयारी

हरिद्वार : हरिद्वार में मकर संक्रांति के स्नान को लेकर पुलिस-प्रशासन ने तैयारी पूरी कर ली है। स्नान के दिन सीमा पर थर्मल स्क्रीनिंग की जाएगी। किसी को जबरन रोका नहीं जाएगा। पुलिस की ओर से प्रशासन के आदेशों का पालन करने के लिए सीमा पर पुलिसकर्मियों की तैनाती रहेगी। यात्रियों से प्रशासन की यही अपेक्षा है कि वे कोरोना जांच रिपोर्ट साथ लेकर आएं। स्वास्थ्य विभाग ने अपनी ओर से रैंडम चेकिंग की व्यवस्थाएं सीमाओं पर की हुई है।
जिला प्रशासन की ओर से हरिद्वार आने वाले लोगों के लिए एसओपी जारी कर दी गई है। श्रद्धालुओं से केवल यह अपील की गई है कि वह पांच दिन पुराना एनटीपीसीआर टेस्ट लेकर आए। बिना टेस्ट लेकर आने वालों को भी हरिद्वार आने दिया जाएगा। लेकिन बिना थर्मल स्क्रीनिंग के किसी को भी हरिद्वार की सीमाओं से नहीं आने दिया जाएगा।
स्वास्थ्य विभाग की ओर से नारसन, चिडियापुर, भगवानपुर, काली नदी, सप्तऋषि समेत अन्य जगह सीमाओं पर स्वास्थ्यकर्मियों की ड्यूटियां लगाई गई है। जिलाधिकारी सी रविशंकर ने बाजारों और गंगा घाटों पर लोगों से सोशल डिस्टेंसिंग बनाए रखने की अपील की है। साथ ही प्रशासन ने होटल, धर्मशाला, लॉज के संचालकों से बिना स्क्रीनिंग के किसी को न देने के आदेश दिए है।
हरिद्वार में कुंभ को लेकर तैयारियां जोरों पर चल रही है। सरकार ने कोई नोटिफिकेशन जारी नहीं किया है लेकिन 14 जनवरी को होने वाले मकर संक्रांति के पर्व पर भारी संख्या में श्रद्धालुओं के आने की उम्मीद जताई जा रही है। मकर संक्रांति का पर्व कुंभ स्नान का नहीं होगा लेकिन यहां आने वाले श्रद्धालु इसे कुंभ का स्नान मानकर चल रहे हैं।
मकर संक्रांति का पर्व सिर्फ शासन प्रशासन के लिए चुनोती नहीं है। कोरोना के इस दौर में साधु-संत भी इस स्नान को चुनौती के रूप में देख रहे हैं। साधु-संतों का साफ कहना है कि कोरोना अभी गया नहीं है इसलिए कोरोना के नियमों का पालन करना हमारा दायित्व है। मकर संक्रांति भी बड़ी चुनौती होगी इसलिए सभी को कोविड 19 की गाइडलाइंस का पालन करना होगा।

0 Comments

Leave a Comment